उत्तमौजा

उत्तमौजा महाभारत के अनुसार पांचाल देश के राजा का पुत्र तथा युधामन्यु का भाई था।

  • महाभारत युद्ध में जिस दिन द्रोणाचार्य ने जयद्रथ की रक्षा करने की और अर्जुन ने उसे मारने की प्रतिज्ञा की थी, उस दिन उत्तमौजा तथा युधामन्यु अर्जुन के पृष्ठरक्षक बने थे और दुर्योधन से इनका घोर युद्ध हुआ था।[1]
  • उत्तमौजा एक पराक्रमी राजा था, जिसे 'युद्धविशारद' और 'वीर्यवान' कहा गया है और जिसने पांडवों की ओर से युद्ध किया था।[2]


टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. पौराणिक कोश |लेखक: राणा प्रसाद शर्मा |प्रकाशक: ज्ञानमण्डल लिमिटेड, वाराणसी |संकलन: भारत डिस्कवरी पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 58 |
  2. चन्द्रचूड़ मणि, हिन्दी विश्वकोश, खण्ड 2, पृष्ठ संख्या 67

संबंधित लेख